HomeTareef-shayariTareef Shayari in hindi | Best 2020 Beuty Shayari in Hindi

Tareef Shayari in hindi | Best 2020 Beuty Shayari in Hindi

Tareef Shayari

Hello, स्वागत है आपका हमारे वेबसाइट  पर | दोस्तों प्यार तो हर कोई करता है  और हर कोई चाहता है कि वो अपने को हर दम खुश रखे, तथा आपका प्यार आपसे रूठ गया है तो उसे कैसे मनाये या फिर आप जिससे प्यार करते है उसका तारीफ करके उसके दिल के करीब जा सकते है | किसी की खूबसूरती का तारीफ करने का सबसे सही माध्यम शायरी है | ऐसे ही आज हम आप के लिए लाए है Tareef  Shayari, Beuty Shayari, Shayari on Beuty, Tareef shayari in hindi, Tareef shayari Quotes, WhatsApp Par Tareef Status, | हम आशा करते करते है कि आपको ये पोस्ट बहुत पसंद आयेगा | आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते है |

|| Mujhe kitna satati ho ||

Tareef shayari image

तेरी निगाहों ने तो मुझे 
पहले ही घायल कर डाला था
अपनी अदाओ सेक्यो जुर्म ढाती हो 
आ जाओ मेरी बाहों में
मुहे कितना सताती हो 
Teri nigaho ne to mujhe
Pahale hi ghayal kar dala tha
Apani adao se kyo jurm dhati ho
Aa jao meri baho me
Mujhe kitana satati ho

|| Tere pyaar ka banjaara hu ||

Tareef shayari image
 
तेरी निगाहों का मारा हु 
तेरे प्यार में अपना दिल हरा हु
देदु तुझे जहा कि सारी खुसिया 
तेरे प्यार का बंजारा हु 
Teri nigaho ka mara hu
Tere pyaar me apana dil hara hu
Dedu tujhe jaha ki saari khusiya
Tere pyaar ka banjara hu

|| Teri husn ki khubsurti ||

तू पानी से नहीं पानी तुझसे नाहता होगा 
तुझे देख चंदा भी सर्मता होगा 
तेरी हुस्न कि खूबसूरती से तो 
हर इंसान पगला जाता होगा
Tu pani se nahi pani tujhase nahata hoga
Tujhe dekh chanda bhi sarmata hoga
Teri husn ki khubsurati se to
Har insaan pagala jata hoga

|| Ankho se chhalkta pyaar ||

Tareef shayari image
चहरे से टपकता नूर 
आँखों से छलकता प्यार 
कुदरत का करिश्मा लगती हो 
तुम्हे देख कर सबको चाड जाये 
इश्क का बुखार 
Chehare se tapakata noor
Ankho se chhalakta pyaar
Kudrat ka karisma lagti ho
Tumhe dekh sabko chad jaye
Isq ka bukhar

|| Apka khubsurat chehra ||

Tareef shayari image
 आपका खूबसूरत चेहरा 
मुझे खूब भा गया 
पहली मुलाकात में ही 
मुझे इश्क का रोगी बना गया 
Apaka khubsurat chehra
Mujhe khub bha gaya
Pahali mulakat me hi
Mujhe isq ka rogi bana gaya

|| jab se dekha tujhe ||

Tareef shayari image
सोचा था कभी इश्क ना करेंगे 
जब से देखा तुझे
मेरा सपना झूठा हो गया 
मै इसक का रोगी बन गया 
Socha tha kabhi isq na karenge kisi se
Jab se dekha tujhe
Mera sapana jhootha ho gaya
Mai isq ka rogi ban gaya

|| Pari lok se ayi ho || 

Tareef shayari image
लगता है परी लोक से 
गुम हुई कोई पारी हो 
तभी तो सुंदरता में इतनी खरी हो 
चाँद  कि चाँदनी भी फीकी पद जाये सामने 
तुम्हारे तुम हुस्न कि जादुई छड़ी हो 
Lagata hai pari lok se
Gum hui koi pari ho
Tabhi to sundarta me itani khari ho
Chand ki chadni bhi fiki pad jaye samne
 Tumhare tum husn jadui chhadi ho

|| Apki sadagi pe kaun n mar jaye ||

Tareef shayari image
आपकी सादगी पे कौन ना मर जाये 
लड़ते हो और हाथ में तलवार भी ना ना रखते हो 
Apaki sadagi pe.kaun na mar jaye
Ladate ho aur me talwar bhi na rakhate ho

|| Tujhe apana bana lu ||

Tareef shayari image
जी चाहता है तुझे पलकों पे बिठा लू 
तुझे अपनी बहो में  छुपा लू 
छोडू ना एक पल के लिए 
तुझे अपना बना लू 
Ji chahata hai tujhe palko.pe bitha lu
Tujhe apani baho me chhupa lu
Chhodu na ek pal ke liye 
Tujhe apana bana lu

|| kajal ka kahar ||

Tareef shayari image
एक तो तेरी कातिल नजर 
उस पर काजल का कहर 
इनसे बचु तो तेरे लबो पे 
लिपस्टिक का कहर 
उफ़ मै कही मर जाऊ 
छुपा के रख अपने अदाओ का जहर 
Ek to teri katil nazar
Us par majal ka kahar
Inse bachu to tere labo pe
Lipstik ka lahar
Uf mai kahimar na jau
Chhupa ke rakh apano adao ka jahar

|| kya likhu teri khubsurti pe ||

Tareef shayari image
क्या लिखू तेरी खूबसूरती पे 
तुझसे खूबसूरत मेरे पास कोई शब्द नहीं 
तू चीज लाजवाब तेरे आगे हर कोई है फेल
Kya likhu teri khusurati pe
Tujhase khubsurat mere pas koi sabd nahi
Tu chij lajwab tere aage har koi fail hai

|| Mere dil me halchal hui ||

Tareef shayari image
तुझसे जब नजरे मिली 
मेरे दिल  में हलचल सी  हुई 
अब तुझसे बार बार नज़ारे मिलाना 
मेरी आदत सी हो गई 
Tujhase jb najare mili
Mere dil me halchal si hui
Ab rujhase baar baar najare milana 
Meri adat si ho gai
RELATED ARTICLES
- Advertisment -